"निर्माण के स्वर" पुस्तक का आचार्य श्री महाश्रमण के कर कमलों से विमोचन

Posted: 14 नवंबर 2010
"निर्माण के स्वर" आध्यात्मिक गीतिका संग्रह पुस्तक का परम पूज्य आचार्य श्री महाश्रमण के कर कमलों से विमोचन

दिनांक २४.१०.२०१०. सरदारशहर.  तेरापंथ युवक परिषद् इचलकरंजी द्वारा प्रकाशित "निर्माण के स्वर" आध्यात्मिक गीतिका संग्रह पुस्तक का परम पूज्य आचार्य श्री महाश्रमण के कर कमलों से विमोचन किया गया. आचार्य श्री महाश्रमण ने फ़रमाया की तेयुप ने गीतिकाओ का एक अच्छा विस्तृत संकलन किया है एवं यह संकलन भजन गोष्टियो, धम्म जागरण एवं संघ गान आदि के लिए उपयोगी सिद्ध होगा. इस अवसर पर तेयुप इचलकरंजी के अध्यक्ष अशोक बाफना, निवर्तमान अध्यक्ष हितेश चोपडा, उपाध्यक्ष संजय वैद मेहता, मंत्री दिनेश छाजेड, सहमंत्री पंकज जोगड़ पूज्य गुरुदेव के श्री चरणों  में उपस्थित थे. गीतिका पुस्तक की प्रति अभातेयुप के राष्ट्रिय अध्यक्ष गौतम डागा , महामंत्री रमेश सुतरिया, उपाध्यक्ष संजय खटेद, सहमंत्री निलेश बैद एवं राष्ट्रिय कार्य समिति सदस्यों को भेट की गयी. समग्र भारत से पधारी अभातेयुप

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपकी अमुल्य टीपणीयो के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद।
आपका हे प्रभु यह तेरापन्थ के हिन्दी ब्लोग पर तेह दिल से स्वागत है। आपका छोटा सा कमेन्ट भी हमारा उत्साह बढता है-