हिन्दी ब्लोग जगत के चहूमुखी विकास की कामना भगवान श्री सिद्धिविनायक से

Posted: 22 अगस्त 2009
आज से गणेश उत्सव शुरु रहा है  गणेश के भक्तो को हार्दीक शुभकामानऎ.

गणेश उत्सव महाराष्ट्र और मुम्बईकरो के लिए विशेष उत्साह लेकर आता है. जगह जगह सार्वजनिक गणेश उत्सव मण्डल द्वारा भगवान श्री गणेश कि प्रतिमा को स्थापित करते है। एवम डेढ दिन- पाच दिन- 
सात दिन- नो दिन- एवम अग्यारा दिन तक अपनी श्रद्धा अनुशार भगवान श्री गणेश कि सेवा भक्ती करते है. अकेले मुम्बई मे दस हजार भगवान श्री गणेश की मुर्तियो की स्थापना कि जाती है. करीब 28 हजार पुलिस बल व्यव्स्था के चाक चोबन्ध मे लगे रहते है. श्रीमन्त सवाई माधवराव पेशवा ने 1784 मे पुणे मे सारसबाग मे अपने ईष्टदेव श्री सिद्धिविनायक गजानन महाराज की प्रतिमा स्थापित की थी. इसके दर्शन का बहूत महत्व है। जो की मुम्बईकर व्यस्थता के कारण पुणॆ तक दर्शन करने नही जा पाते अब वे अन्धेरी मे ही दर्शन एवम पुजा-अर्चना कर सकेगे. बहूत से गणेश भक्त मण्डलियो ने 2028 तक प्रतिमाओ की बुकीग कर चुकी है.
अन्धेरी के राजा के नाम से विख्यात श्री गणेश के आज से नो दिन मे 30 लाख भक्तो के दर्शन करने की सम्भावना है.
मुम्बई की प्रसिद्ध गणपती लालबाग के राजा के तो दर्शन मात्र से लोगो के सकट मिट जाते है.
2500 कार्यकर्ताओ, 50 सीसी कैमरो, 20 मेटल डिडेक्टरो एवम 1000 पुलिस कर्मियो की निगरानी मे 30 से 35 लाख लोग लालबाग के राजा के दर्शन करने की मन्नत रखते है. भक्त दो-दो दिन की लाईन मे लगकर भी अपने भगवान कि एक झलक पाने को आतुर है.
वास्तव मे भगवान गणेश की कृपा दृष्टि अपने भक्तो पर इस तरह बनी रहती है की भक्त भी भगवान की भक्ती मे कमी नही होने देते। ''विनायक'' अर्थ है - जिसका इस सृष्टी मे कोई ''नायक'' नही वह स्वय सर्वेसर्वा है,वो
ही सबका नायक है।
विघनहर्ता, सिद्धिविनायक जो इस ससार मे प्रथम पुज्य देव है को आज हम सभी वन्दन करते है।
एवम हिन्दी ब्लोग जगत के चहूमुखी विकास की कामना करते है।



सिद्धिविनायक मन्दिर प्रभादेवी मे तो साक्षात भगवान गणेश वास करते है। करोडो श्रृद्धालू हर रोज सिद्धिविनायकजी के दर्शनार्थ के लिये आते है। ऐसी मान्यता है की यहॉ आने पर लोगो के सारे कष्ट मिट जाते है  विघ्ह्नन मिट जाते है। और भगवान सिद्धिविनायक के आर्शिवाद से रिद्धि-सिद्धि का आगमन होता है। प्रत्येक सोमवार सैकडो लोग अपने अपने घरो से रात से ही पैदल चलकर मगलवार सुबह 3.30 बजे
प्रथम आरती दर्शन लेने हेतू सिद्धिविनायक मन्दिर पहुचते है।

क्या गरीब, क्या अमिर, नेता हो या अभिनेता, सभी सिद्धिविनायक के दरबार मे मथा ठेकने पहुचता है।
और भगवान भी उन्हे निराशा नही करते हाथो हाथ अपने भक्तो की मनोकामनाए पुरी करते है। मदिर के बाहर दो मूसक जो भगवान सिद्धिविनायक की सवारी है। वहॉ दर्शन को जाने वाला भक्त मूसक जी के कान मे अपना मुह लगा कर अपनी कठीनाईया या कोई मन्नत बताते है। दोनो मूसक बिना देरी किये भक्तो की सिफारिस सिद्धिविनायकजी से करते है। और भक्तो को सकट से उबारते।
आज हम सभी जोर से बोले
''गणपती बापा मोरिया उर्षा वर्शी लोकरिया''
आप विडियो देखने के लिऍ यहॉ किल्क करे

Jay Siddhivinayak Aarti
'Jay Siddhivinayak (Aarti)'
Jay Siddhivinayak (Aarti)

ऑडियो सुनने के लिऍ यहॉ किल्क करे


Bachchan Family Walks To Siddhi Vinayak
Siddhivinayak Aarti Part 3

11 comments:

  1. Udan Tashtari 22 अगस्त, 2009

    गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाऐं.

  2. अजय कुमार झा 22 अगस्त, 2009

    गणपति बप्पा मोरिया ......सुन्दर पोस्ट ..शुभकामनायें

  3. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक 22 अगस्त, 2009

    श्री गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभ कामनाएं-
    आपका शुभ हो, मंगल हो, कल्याण हो |

  4. कुश 22 अगस्त, 2009

    गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाऐं.

  5. Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" 22 अगस्त, 2009

    श्री गणेश चतुर्थी की आपको भी हार्दिक शुभकामनाऎँ!!
    गणपति बापा मोरिया!!!!!!!!

  6. संजय बेंगाणी 22 अगस्त, 2009

    गणपति बप्पा मोरिया ......

  7. ताऊ रामपुरिया 22 अगस्त, 2009

    गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाऐं. बहुत सुंदर चित्रावली से सुसज्जित पोस्ट.

    रामराम.

  8. Vivek Rastogi 22 अगस्त, 2009

    जी हाँ लालबाग के राजा के प्रथम दर्शन के लिये शुक्रवार शाम ८ बजे से लाईन लग गय़ी है। गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएँ ।

  9. कुलवंत हैप्पी 23 अगस्त, 2009

    गणेश चतुर्थी की बधाई...हो...एक शानदार पोस्ट

  10. Disha 23 अगस्त, 2009

    aapko bhi ganesh chturthi ki shubhkamnayein.
    achchha sankalan hai.
    badhai

  11. लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` 23 अगस्त, 2009

    गणपति बप्प्पा मोरया...मंगल मूर्ति मोरया ...
    ॐ गम गणपतये नमः

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमुल्य टीपणीयो के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद।
आपका हे प्रभु यह तेरापन्थ के हिन्दी ब्लोग पर तेह दिल से स्वागत है। आपका छोटा सा कमेन्ट भी हमारा उत्साह बढता है-