2009 कि हार्दिक शुभकामनाये

Posted: 31 दिसंबर 2008
चिट्ठाजगत

  • आचार्य श्री महाप्रज्ञजी का संदेसा
    मुझे प्रसन्ता है की नये वर्ष के प्रवेश कि वेला मै आपके मगलमय विकास कि कामना करता हु।भोतिक विकास के साथ आध्यात्मिक विकास अत्यन्त अनियवार्य है। हम सकल्प के साथ इस धारणा पर आये कि अध्यात्म के बिना शान्ति सम्भव नही है। आध्यात्मिक चेतना का विकास और उसका व्यवहारिक रुप है अहिसा। हम केवल शान्ति कि बात ना करे। उसमे पहले अहिसा को ह्र्दयगमन करे। हम नये वर्ष के प्रवेश के अवसर पर अतीत का अवलोकन करे । मुडकर देखे की गत वर्ष हमारा कैसा रहा ? हम गत वर्ष को ही नही बल्की आने वाले वर्ष के लिये भी शुभकामना करे ओर शुभ भविष्य कि प्रार्थना करे। अतित मै हमने क्या किया, हम देखे। भविष्य मे हम क्या करेगे ? जब तक अतित का अवलोकन वर्तमान का चिन्तन और भविष्य कि कल्पना मे सामजस्य नही होता, तब तक शान्ति की बात अपुर्ण रह जाती है।
    इस पवित्र चेतना के साथ नये वर्ष मे प्रवेश करे और नये वर्ष कि उल्लास के साथ मनाये। हमार यह उल्लास स्थायी बने और नये वर्ष के लिये ऐसी साधना सामाग्री जुटाए , जो अगले वर्ष को मगलमय और कल्याणमय बना सके।

    -: प्रेक्षा प्रणेता आचार्य श्री महाप्रज्ञजी


  • श्री श्री रवि शंकर महाराज का शंदेसा
  • 2009 का स्वागत अपनी आन्तरिक मुस्कान के साथ करे। कलैण्डर के पन्ने पलटने के साथ साथ हम अपने मन के पन्नो को भी पलटते जाये। प्रायःहमारी डायरी स्मृतियो से भरी हुई होति है। आपदेख कि आपके भविष्य के पन्ने बीती हुई घटनाओ से न भर जाये। बीते हुये समय से कुछ सिखे, कुछ भुले, और आगे बढे।
    इस बार नव वर्ष के आगमन पर पृथ्वी पर सभी के लिये शान्ति तथा सम्पन्नता के सकल्प के साथ शुभ कामनाये दे। आतकवाद के छाया तथा बाढ तथा अकाल के समय मे और अधिक नि:स्वार्थ सेवा करे। जाने कि इअस ससार मे हिसा को रोकना ही हमारी प्राथमिक उद्देशय है, तथा विश्व को सभी प्रकार कि सामाजिक तथा परिवारीक हिसा से मुक्त करना । समाज के लिये और अधिक अच्छा करने का सकल्प ले, जो पीडित है उन्हे धिरज दे। राष्ट्र-समाज-परिवार के प्रति उतरदायी हो।
    :- श्री श्री रविशकरजी महाराज
  • हे प्रभु यह तेरापथ के परिवार कि ओर से नये वर्ष की हार्दिक शुभकामनाये।
    जहॉ थे वहॉ से कुछ आगे बढे,
    अतीत को ही नही भविष्य को भी पढे,
    गढा है हमारे धर्म गुरुओ ने सुनहरा इतिहास ,
    आओ हम उससे आगे का इतिहास गढे।
  • 2
    पुरब मे हर रोज नया, सूरज अब हमे उगाना है।
    अघिकारो से कर्तव्यो को, ऊचॉ हमे उठाना है ।
    ज्ञान ज्योति से अन्तर्मन, के तम का अब अवसान करना है।
    छोडो सहारो पर जीना, जिये विचारो पर अपने ।
    सही दिशा मे शक्ती नियोजिन, करे फले सारे सपने ।
    स्वय बनाये राह, स्वय ही चरणो को गतिमान करे।
-:महावीर बी सेमालानी "भारती"
(फोटू देखने के लिए उस पर चटका लगाए )
मारी ग्रुप्स की सभी कम्पनी की और से नव वर्ष की शुभकामना
सिमको पोली टेक्स -
सायर टेक्स इन्डरस्ट्रीज,
प्रेक्षा ईन्ट्ररप्राईजेज इण्डिया लिमिटेड
रेडियन्ट इवेन्ट आफ इन्ट्ररनेशनल फेयर
रेडियन्ट फैबरीक्रियेशन
चैनल (कल्यान/ न्यु मुबई/भिवन्डी
)स्टार इन्डियॉ न्युज





7 comments:

  1. मोहन वशिष्‍ठ 31 दिसंबर, 2008

    कुछ ही पलों में आने वाला नया साल आप सभी के लिए
    सुखदायक
    धनवर्धक
    स्‍वास्‍थ्‍वर्धक
    मंगलमय
    और प्रगतिशील हो

    यही हमारी भगवान से प्रार्थना है

  2. मोहन वशिष्‍ठ 31 दिसंबर, 2008

    कुछ ही पलों में आने वाला नया साल आप सभी के लिए
    सुखदायक
    धनवर्धक
    स्‍वास्‍थ्‍वर्धक
    मंगलमय
    और प्रगतिशील हो

    यही हमारी भगवान से प्रार्थना है

  3. राज भाटिय़ा 31 दिसंबर, 2008

    नव वर्ष की आप और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं !!!नया साल आप सब के जीवन मै खुब खुशियां ले कर आये,ओर पुरे विश्चव मै शातिं ले कर आये.
    धन्यवाद

  4. hem pandey 31 दिसंबर, 2008

    'कल जहाँ थे वहाँ से कुछ आगे बढें' यही जीवन का मूल मन्त्र है. लेकिन आज की युवा पीढी क्या सही दिशा में आगे बढ़ रही है ? या :
    When I was young my father said
    That on should try to get ahead
    Today Isay my young son Steven
    That he will do well if he stays even.

  5. seema gupta 31 दिसंबर, 2008

    "नव वर्ष २००९ - आप सभी ब्लॉग परिवार और समस्त देश वासियों के परिवारजनों, मित्रों, स्नेहीजनों व शुभ चिंतकों के लिये सुख, समृद्धि, शांति व धन-वैभव दायक हो॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ इसी कामना के साथ॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं "
    Regards

  6. संदीप शर्मा Sandeep sharma 01 जनवरी, 2009

    नई उमंगों के साथ आए नया वर्ष....

    आपको नववर्ष की शुभकामनायें....

  7. रश्मि प्रभा 03 जनवरी, 2009

    aapki rachna me bahut sahaj baaton ki jaankaari milti hai,jo zindagi ke kareeb lati hai,kuch sikhaati hai,..........
    sach kaha parivartan ke liye humen apne ko gatimaan karna hoga

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमुल्य टीपणीयो के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद।
आपका हे प्रभु यह तेरापन्थ के हिन्दी ब्लोग पर तेह दिल से स्वागत है। आपका छोटा सा कमेन्ट भी हमारा उत्साह बढता है-