अध्यात्म पुरष आचार्य महाप्रज्ञ का छठा महाप्रयाण दिवस आज

Posted: 15 अप्रैल 2015
महासूर्य "महाप्रज्ञ महाप्रयाण दिवस" पर भावपूर्ण श्रदांजलि

प्रखर मेधा के धनी, महायोगी, इस कलयुग में तीर्थंकर स्वरुप, तेरापंथ धर्मसंघ के दसवें नक्षत्र, महामना, महात्मा महाप्रज्ञ जी के षष्ठम महाप्रयाण दिवस पर तेयुप चेन्नई परिवार का शत शत नमन, वंदन ।

महाप्रज्ञप्रवर का पूरा जीवन उपाधियों, उपलब्धियों, सफलताओं और विविध प्रकार के नवोन्मेषी आश्चर्यों से भरपूर रहा है।

साधना में सजगता, जीवन भर पादविहारी, दार्शनिक विचार, मूर्धन्य वक्ता, महान साहित्यकार, प्रेक्षाध्यान के प्रणेता, योग विद्या के महापंडित, आगमों के गहन ज्ञाता और ना जाने कितनी कितनी शक्तियों के उद्घाता, अनेकों लब्धियों के स्वामी, हम सब के मन मंदिर के भगवान् श्री महाप्रज्ञ जी के व्यक्तित्व को शब्दों में बाँधना मुमकिन नहीं है।

उनका पूरा जीवन आज के वैज्ञानिकों एवं ज्योतिर्विदों के लिए गहन शोध का विषय है कि आज के इस युग में एक व्यक्ति अपने अतिसीमित संसाधनों के साथ इतना कुछ कैसे कर सकता है।

 युवा शक्ति उनके दिखाए पथ पर चलने और संघ के विकास, संवर्धन और सेवा में सदैव तत्पर रहने के अपने संकल्प को आज और अधिक पुष्ट करती है। उन देवपुरुष के चरणों में पुनः श्रद्धा, आस्था एवं समर्पण से परिपूर्ण भावांजलि अभिव्यक्त करती है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपकी अमुल्य टीपणीयो के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद।
आपका हे प्रभु यह तेरापन्थ के हिन्दी ब्लोग पर तेह दिल से स्वागत है। आपका छोटा सा कमेन्ट भी हमारा उत्साह बढता है-